in

बाजार में शाकाहारी केक न मिलने पर भाइयों ने शुरू किया स्टार्टअप, कुछ ही वर्षों में बन गया 630 करोड़ का साम्राज्य

कई युवा आज बहुत अच्छी पढ़ाई करने के बावजूद भी नौकरी से वंचित हैं, उनके पास टैलेंट तो जरूर है लेकिन अच्छी नौकरी प्राप्त करने के लिए अवसर की कमी है। कुछ लोगों का टैलेंट तो यूँ ही भेड़-दौड़ में जाया होता जाता है। पर कुछ लोग अपने टैलेंट का इस्तेमाल कर नए अवसर पैदा करते हैं। कई लोगों में बिज़नेस करने की चाहत रहती है, पर उनके पास सारी नई टेक्नोलॉजी तथा बिज़नेस से जुड़ी अन्य जानकारियों का अभाव होता। वहीं कई सारे नौजवानों के पास पैसे की यानी पूँजी की कमी होती है। कुछ लोग तो बिज़नेस करना चाहते हैं पर उनका आइडिया इतना जटिल होता है कि उसका किर्यान्वन ही संभव नहीं हो पाता। इन्हीं कारणों से वह अपना बिज़नस शुरू नहीं कर पाते। कायदे से देखें तो ये सब बस बहाने हैं और लोग जोखिम उठाने से भयभीत होकर इन बहानों का सहारा लेते। कारोबार करने के लिए जरूरी होता है सिर्फ एक बेहतर आइडिया और उसको पूरा करने की सच्ची लगन।

अक्सर आपने देखा होगा कि ज्यादातर बिज़नेस आइडिया किसी न किसी समस्या के हल से जुड़ा होता है। भले ही शुरुआत में आपको यह समस्या और आइडिया बहुत ही सामान्य लगे। पर ये सामान्य सी दिखने वाली समस्या ही तो हर जगह बड़े पैमाने पर देखने को मिलती है। बस अगर हम एक अलग नज़रिये से इसका कोई व्यापक हल ढूंढें और खुद पर विश्वास रखें तो जरूर यह एक बड़े बिजनेस आइडिया में तब्दील हो सकता है।

हमारी आज की कहानी दो ऐसे भाइयों के बारे में है, जिन्होंने अंडा रहित केक के आइडिया को एक सफल बिजनेस में तब्दील कर दिया है।

भारतीय मूल के प्रदीप दास और सुख चमडल आज लंदन में “एगफ्री केक बॉक्स” के बैैैनर तले एक सफल स्टार्टअप का संचालन कर रहे हैं। उनकी बिना अंडे वाली वेजिटेरियन केक का फार्मूला ब्रिटेन के केक मार्केट में एक मॉडर्न ट्विस्ट के साथ आते ही छा गया। उनके एगलेस केक की बिक्री का अंदाज़ा इसी के लगाया जा सकता है कि वर्तमान में उनकी कंपनी का मूल्यांकन 630 करोड़ के पार है।

यूँ तो केक वर्षों से बिक रहे हैं और लोगों के बीच लगातार इसका क्रेज भी बढ़ा है। ब्रिटेन जैसे पश्चिमी देशों में तो इसका प्रचलन बहुत पुराना है। लंदन भी केक्स का एक बड़ा मार्केट है पर यहां केक अंडों से तैयार होता है, जिसे वेजिटेरिअन लोग चाह कर भी नहीं खा पाते। लंदन में भी शाकाहरी लोगों की एक बड़ी तादाद रहती है लेकिन केक खाने की उनकी इच्छा पूरी नहीं हो रही थी। ऐसे में बिना अंडे के केक ने उन्हें एक जबरदस्त विकल्प दिया।

दअरसल सुख चदमल की बेटी को एक बार केक खाने की बड़ी इच्छा थी, लेकिन उनका पूरा परिवार पूर्ण रूप से शाकाहारी है। ऐसे में सुख ने गौर किया कि लंदन में ऐसे बहुत ही गिने चुने आउटलेट्स हैं जहाँ वेज खाना मिलता था। ऐसे में उनके दिमाग में बिना अंडे का केक तैयार करने का आइडिया मिला। उन्होंने अपने कज़िन भाई प्रदीप से इस बारे में विचार किया और फिर यहीं से शुरू हुआ एगफ्री केक बॉक्स का सफ़र।

उन्होंने केक की एक ऐसी रेसिपी तैयार की जिनमें  अंडों का प्रयोग नहीं होता था। पर इसके स्वाद, रंग और स्पोंजिनेस में कोई अंतर नहीं हुआ, ताकि ग्राहक को यह ना लगे कि वह स्वाद और गुणवत्ता में किसी तरह का समझौता कर रहे हैं। रेसिपी के ईजाद के बाद उन्होंने साल 2008 में एक छोटी सी दुकान से इसकी शुरुआत की। उनकी यह दुकान ईस्ट लंदन के ग्रीन स्ट्रीट, अप्टॉन पार्क में स्थित थी। आज उनके पूरे यूनाइटेड किंगडम में 90 से भी अधिक स्टोर्स हैं।

एगफ्री केक बॉक्स गुणवत्ता पर सबसे ज्यादा ध्यान देता है। इसके लिए वे सबसे गुणवत्तापूर्ण सामाग्री का इस्तेमाल करते हैं।  दोनों मालिकों का कहना है कि वे वाजिब रेट पर स्वादिष्ट और खूबसूरत केक अपने ग्राहकों को डिलीवर करते हैं।

एगफ्री केक बॉक्स के सह-संस्थापक 45 वर्षीय प्रदीप का कहना है कि “हम ऐसे जगहों पर अपना आउटलेट्स खोल रहे हैं जहां पोटेंशियल अच्छा हो। हमारी डिलीवरी सर्विस बहुत ही तेज है। ग्राहकों को केवल 20 मिनट के औसत समय में उनके मन मुताबिक के डिज़ाइन का केक मुहैया हो जाता और स्पेशल वेडिंग केक 1 दिन के अंदर डिलीवर हो जाता है।”

साल 2017 में कंपनी नें ‘क्लिक एंड कलेक्ट’ फीचर के साथ अपनी वेबसाइट लांच की थी। जिसके तहत ग्राहक विभिन्न तरह के केकों में अपने मनपसंद केक को पसंद कर उनका आर्डर दे सकते हैं। साथ ही, वे स्टोर में जाकर अपना तैयार केक बिना किसी देरी के प्राप्त कर सकते थे। साथ ही इस वेबसाइट में ‘स्टोर लोकेटर’ के माध्यम ग्राहक अपने सबसे नजदीकी स्टोर का पता भी लगा सकते हैं। ग्राहकों द्वारा उनके उत्पादों को पसंद किए जाने के कारण उन्होंने मफिन, शुद्ध भैस के दूध की बर्फी और अंडा रहित चीज़ केक भी लॉन्च किया है।

एगफ्री केक बॉक्स के सह-संस्थापक 56 वर्षीय सुख का कहना है कि हम हाथों द्वारा फ्रेश क्रीम द्वारा निर्मित केक अपने ग्राहकों को देते हैं। लोगों के बीच इसका डिमांड बढ़ता जा रहा है, खासकर जो लोग शाकाहारी हैं या व्यक्तिगत कारणों तथा एलर्जी के कारण अंडे का सेवन नहीं करते हैं। ऐसे लोग हमारे उत्पादों को बहुत पसंद कर रहे हैं।

इन भाइयों की कहानी वाक़ई में प्रेरणादायक है। उन्होंने अपने आसपास ही एक ऐसे अवसर को ढूंढ निकाला, जहां कारोबार की असीमित संभावनाएं थी। कायदे से देखें तो हमारे आसपास ही ऐसे अनगिनत आइडियाज छिपे हैं, जिसमें अनंत संभावनाएं हैं। बस उसे ढूंढने और समय के साथ आगे ले जाने की जरूरत है।

आप अपनी प्रतिक्रिया नीचे कमेंट बॉक्स में दे सकते हैं और पोस्ट अच्छी लगी तो शेयर अवश्य करें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Loading…

0