in

बतौर न्यूज़ प्रोडूसर शुरुआत कर बनीं 36000 करोड़ की मालकिन, भारत की सबसे अमीर महिला की कहानी

यह सच है कि हमारे देश भारत में प्रतिभाओं की कोई कमी नहीं है। शिक्षा, विज्ञान से लेकर उद्योगजगत हर जगह युवाओं ने अपनी प्रतिभा का लोहा मनवाया है। और इसमें महिलाओं ने भी बढ़-चढ़ कर हिस्सा लेते हुए अपनी कामयाबी का डंका बजाया है। नई पीढ़ी के कुछ युवाओं ने जहाँ शून्य से शुरुआत कर अपनी पहचान बनाई है तो वहीं कुछ युवाओं ने विरासत में मिली चीज़ों को आगे बढ़ाकर। हालांकि चुनौतियों का सामना हर कोई को करना पड़ा है।

हमारी आज की कहानी एक ऐसी ही युवा शक्ति को समर्पित है, जिनके नाम आज देश की सबसे अमीर महिला उद्यमी का ताज है। 38 साल की रोशनी नादर मल्होत्रा आज किसी परिचय की मोहताज नहीं हैं। पिता के अरबों डॉलर के कारोबार को आगे बढ़ाने में उनका महत्वपूर्ण योगदान रहा है।

रोशनी नाडर अरबपति बिजनेसमैन और एचसीएल टेक्नोलॉजीज के संस्थापक शिव नाडर और किरण नाडर की इकलौती बेटी हैं। दिल्ली में पली-बढ़ीं रोशनी ने अपनी प्रारंभिक शिक्षा वसंत वैली स्कूल से पूरी की और फिर अमेरिका के नार्थईस्टर्न यूनिवर्सिटी से कम्युनिकेशन में ग्रेजुएशन किया। उसके बाद उन्होंने केलॉग स्कूल ऑफ मैनेजमेंट से बिजनेस मैनेजमेंट की डिग्री ली।

रोशनी को टेक्नोलॉजी बिजनेस में कभी इंटरेस्ट नहीं था। उनका रुझान मीडिया और एंटरटेनमेंट सेक्टर में था। बिज़नेस की दुनिया में कदम रखने की बजाय वह मीडिया में करियर बनाना चाहती थी और इसमें काफी समय काम भी किया। उन्होंने सीएनएन और सीएनबीसी जैसी ग्लोबल मीडिया कंपनी में बतौर न्यूज़ प्रोडूसर काम भी किया। अलग-अलग कंपनियों में काफी वर्षों तक काम करने के बाद उन्होंने भारत लौटने का निश्चय किया और अपने पिता के कारोबार में मदद करने का फैसला किया। साल 2009 में 27 साल की उम्र में वह एचसीएल जॉइन की और साल भर के भीतर ही उन्हें एग्जीक्यूटिव डायरेक्टर और सीईओ के पद पर प्रमोट कर दिया गया। 

उसके बाद रोशनी ने कभी पीछे मुड़कर नहीं देखा। साल 2013 में उन्हें एचसीएल के बोर्ड में शामिल किया गया और वह कंपनी की वाइस चेयरपर्सन बनीं। पिता के नेतृत्व में काम करते हुए उन्होंने हर क्षेत्र में अपनी काबिलियत परिचय दिया और दुनिया के सामने एक प्रभावशाली महिला के रूप में उभरी। साल 2019 में फोर्ब्स की विश्व की 100 सबसे ताकतवर महिलाओं की सूची में उन्हें 54वां स्थान मिला था।

हाल ही में एचसीएल टेक्नोलॉजीज ने जून तिमाही (Q1) परिणामों की घोषणा की। कमाई के साथ-साथ, कंपनी ने यह भी घोषणा की कि उसके संस्थापक और अध्यक्ष शिव नादर की जगह अब उनकी बेटी रोशनी नादर मल्होत्रा लेगी और उन्हें तत्काल प्रभाव से नए अध्यक्ष के रूप में नियुक्त किया है।

इसके साथ ही वह एक लिस्टेड भारतीय आईटी कंपनी का नेतृत्व करने वाली पहली महिला बन गई हैं। हुरुन इंडिया की सूचि के मुताबिक 36,800 करोड़ रुपये की संपत्ति के साथ रोशनी भारत की सबसे अमीर महिला हैं।

आपकी जानकारी के लिए बताना चाहते हैं कि एचसीएल टेक्नोलॉजीज फोर्ब्स की ग्लोबल 2000 कंपनियों की सूची में शामिल है। यह मई 2019 तक 21.5 बिलियन डॉलर के बाजार पूंजीकरण के साथ भारत में शीर्ष 20 सबसे बड़ी सार्वजनिक रूप से कारोबार वाली कंपनियों में से है। जुलाई 2020 तक, कंपनी कुल 71,265 करोड़ (US $10 बिलियन) का वार्षिक राजस्व किया है।

बतौर न्यूज़ प्रोडूसर अपने करियर की शुरुआत करने वाली रोशनी आज 71,265 करोड़ का वार्षिक टर्नओवर करने वाली कंपनी का नेतृत्व कर रही हैं। उनकी कार्यकुशलता और नेतृत्व क्षमता वाकई में प्रेरणादायक है।

आप अपनी प्रतिक्रिया नीचे कमेंट बॉक्स में दे सकते हैं और इस पोस्ट को शेयर अवश्य करें

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Loading…

0