in

पति से 16 हज़ार रुपये उधार लेकर घर के तहखाने में शुरू किया काम, आज है 3500 करोड़ का टर्नओवर

“यदि आपके पास कोई विचार है, तो बार-बार उस पर सोचने की बजाय आगे बढ़ें।” यह कथन एक बहुत ही सफल महिला की है जो अपना खुद का व्यवसाय शुरू करने की चाहत रखने वाले लोगों के लिए है। बारबरा ब्राडली और पेट्रीसिया आर मिलर, सुप्रसिद्ध ब्राण्ड वेरा ब्राडली की संस्थापिका हैं। वेरा ब्राडली एक लोकप्रिय बैग डिज़ाइन करने वाली अमेरिकन कंपनी है।

फोर्ब्स पत्रिका के अनुसार, बारबरा और पेट्रीसिया, अपनी मेहनत से शून्य से शिखर तक पहुँचने वाली चंद अमेरिकी महिलाओं में से एक हैं। उनके लोकप्रिय ब्रांड वेरा ब्राडली की सफलता की कहानी दिलचस्प पुरानी यादों और अप्रत्याशित शुरुआत के साथ जुड़ी है।

1982 में, बारबरा ब्राडली और उनकी घनिष्ट मित्र पेट्रीसिया मिलर अटलांटा से उड़ान भरने वाली थीं। हवाई अड्डे पर, उन्होंने देखा कि ज्यादातर महिलाएं अनाकर्षित बैगों के साथ यात्रा कर रही थी। बैगों का डिजाइन उन्हें काफी निराश किया और फिर यही से शुरु हुई उनके डिज़ाइनर बैग बनाने के आइडिया पर काम।

माँ के रुप में घर पर रहने वाली बारबरा और पेट्रीसिया के पास अपनी कंपनी शुरु करने के लिए पैसे नहीं थे, इसलिए उन्होंने अपने पति से 250 डॉलर (लगभग 16,000 रुपये) लेकर रंगीन बैग बनाने के लिए कुछ फूलदार, गद्देदार सूती कपड़े खरीदे। बारबरा के तहखाने में दोनों ने काम करना शुरू कर दिया। कुछ दिनों के बाद, उन्होंने अखबारों में उन लोगों के लिए एक विज्ञापन दिया जो अपने घरों से सिलाई का काम करना चाहते थे। वे एक पिंग-पोंग मेज पर कपड़ों को काट कर एक जिपर और अन्य जरुरी सामग्रीयों के साथ एक बैग में रख कर उन महिलाओं को देती जो घर ले जा कर उनकी सिलाई करती।

बारबरा की मां, जो एक पूर्व मॉडल थी, महिलाओं के लिए एक प्रमुख प्रेरणा स्रोत थी। उन्होंने उनके नाम से कंपनी वेरा ब्राडली का नाम रखने का निर्णय लिया।

एक समय था जब अपने काम को आगे बढ़ाने के लिए उन्हें धन की आवश्यकता थी। उनके इस योजना पर एक मित्र ने विश्वास कर उन्हें 2,500 डाॅलर (लगभग 1.6 लाख रुपये) का चेक दिया। उसने कहा कि यदि वे सफल रहे तो यह एक ऋण होगा अगर वे सफल न हुए तो यह एक उपहार होगा। यह चेक उनके लिए एक बड़ी मदद साबित हुई। पहले वर्ष में, उन्होंने 10,000 डाॅलर (लगभग 6.44 लाख रुपये) का उत्पाद बेचा, और तीसरे वर्ष के अंत तक, उनका 1 मिलियन डॉलर का टर्न-ओवर हुआ।

1984 में, उन्होंने अपनी जगह सिलाई के काम के लिए किराए पर दे दिया ताकि वे मार्केटिंग और बिक्री पर ध्यान केंद्रित कर सकें। प्रारंभ में, उन्हें पता नहीं था कि कीमतें कैसे तय होती है या लागत का विश्लेषण कैसे किया जाता है। इसके लिए उन्होंने ने एक गैर लाभकारी संस्था ‘स्कोर’ (सर्विस कॉर्प ऑफ़ रिटायर्ड एक्जीक्यूटिव) के साथ संपर्क किया, जो उद्यमियों को नि:शुल्क व्यापार सलाह देती है। ‘स्कोर’ ने एक स्वयंसेवक को उनके सहयोग के लिए सौंपा। उन्होंने दुकानों से सम्पर्क करना शुरू किया, उनके बैग दिखाए, जिससे उनकी बिक्री बढ़ गई।

2007 में बारबरा और पेट्रीसिया ने अपना पहला खुदरा स्टोर खोला। उनके ग्राहकों में 8 से लेकर 80 साल तक के लोग हैं। उन्होंने बेबी बैग, छात्र बैकपैक्स, और सहायक उपकरण की एक विशाल श्रृंखला का शुभारंभ किया। डिजाइनरों के अनुसार अंग्रेजी और फ्रेंच डिजाइनों से प्रेरित होकर और अमेरिकी पसंद को ध्यान में रखते हुए डिजाइन तैयार किए गए।

व्यापार के बढ़ने में दोस्तों और परिवारवालों का बहुत सहयोग रहा है। बारबरा अभी भी याद करतीं है जो उनके पिता ने उन से कहा था, “व्यापार में, आप खुद को पहले प्रस्तुत करते हैं, दूसरी आपकी कंपनी को और तीसरे उत्पादों को। व्यापार संबंधों के निर्माण करता है, और कंपनी आपकी नैतिकताओं का प्रतिबिंब है।”

1990 के दशक के शुरूआत में, स्तन कैंसर की वजह से उन्होंने अपने एक प्रिय मित्र को खो दिया। बारबरा और सह-संस्थापक पेट्रीसिया ने ब्रेस्ट कैंसर के लिए वेरा ब्रैडली फाउंडेशन की स्थापना की। जिसने इंडियाना यूनिवर्सिटी कैंसर केंद्र में 10 मिलियन डॉलर से अधिक का दान किया है।

एक साधारण गृहिणी से 550 मिलियन डाॅलर से अधिक की वार्षिक बिक्री करने वाली एक ब्रांड की संस्थापिका, बारबरा ब्राडली और पेट्रीसिया मिलर अमेरिकी फैशन उद्योग में उल्लेखनीय लोगों में से एक बन गयी हैं। हमेशा उनकी दोस्ती ही वेरा ब्रैडली की सफलता का आधार रही है। आज यह लेबल रंगीन प्रिंट और उच्च कोमल गद्देदार गुणवत्ता वाले कपास बैग के लिए जाना जाता है। वेरा ब्रैडली ब्रांड अन्य पसंदीदा अमेरिकी ब्रांडों के बीच में एक बन गया है। हाल ही में ब्रांड ने सिर्फ हैंडबैग से अपने उत्पाद की पेशकश का विस्तार कपड़े, इत्र, आभूषण, चश्मा आदि में किया है।

एक कार्यशाला के रूप में पिंग पोंग मेज पर से शुरू हुआ 1982 में एक उज्ज्वल कल्पना अब एक वैश्विक सफलता का प्रतीक है। बारबरा और पेट्रीसिया की यात्रा वास्तव में प्रेरणादायक है।

आप अपनी प्रतिक्रिया नीचे कमेंट बॉक्स में दे सकते हैं और इस पोस्ट को शेयर अवश्य करें

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Loading…

0